भौतिकी से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न-MCQs

भौतिकी से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न-

In this post there are 11 mcq questions for you. Answers are also given with explanation. The purpose of this post is to grow your knowledge.

Advertisements

Question-01_

मिश्रधातुओं का उपयोग विद्युत इस्तरी, टोस्टर आदि सामान्य वैद्युत तापन युक्तियों के निर्माण में किया जाता है। क्योंकि मिश्रधातुओं की प्रतिरोधकता उनकी अवयवी धातुओं की अपेक्षा अधिक होती है तथा मिश्रधातुओं का उच्च ताप पर शीघ्र ही उपचयन (दहन) नहीं होता है!
Q01

EXPLANATION-कथन सही है, लेकिन कारण गलत है। मिश्रधातुओं का उपयोग विद्युत इस्तरी, टोस्टर आदि सामान्य वैद्युत तापन युक्तियों के निर्माण में किया जाता है। क्योंकि मिश्रधातुओं की प्रतिरोधकता उनकी अवयवी धातुओं की अपेक्षा अधिक होती है तथा मिश्रधातुओं का उच्च ताप पर शीघ्र ही उपचयन (दहन) नहीं होता है!

mynewradiant.com

Advertisements

Question-02_

घरों में विद्युत परिपथ को पार्श्वक्रम (समानांतर क्रम) में लगाया जाता है। इसका कारण यह है कि विभिन्न इलेक्ट्रिक सामानों को उचित प्रकार से कार्य करने के लिये अत्यधिक भिन्न मानों की विद्युत धाराओं की आवश्यकता होती है।
Q02

mynewradiant.com

EXPLANATION-घरों में विद्युत परिपथ को पार्श्वक्रम (समानांतर क्रम) में लगाया जाता है। इसका कारण यह है कि विभिन्न इलेक्ट्रिक सामानों को उचित प्रकार से कार्य करने के लिये अत्यधिक भिन्न मानों की विद्युत धाराओं की आवश्यकता होती है। श्रेणीबद्ध परिपथ से एक प्रमुख हानि यह होती है कि जब परिपथ का एक अवयव कार्य करना बंद कर देता है तो परिपथ टूट जाता है और परिपथ का कोई अन्य अवयव कार्य नहीं कर पाता है।

Advertisements

Question-03_

किसी प्रतिरोधक से प्रवाहित होने वाली विद्युत धारा उसके प्रतिरोध के व्युत्क्रमानुपाती होती है।
Q03

mynewradiant.com

EXPLANATION-

किसी प्रतिरोधक से प्रवाहित होने वाली विद्युत धारा उसके प्रतिरोध के व्युत्क्रमानुपाती होती है। यदि प्रतिरोध दो गुना हो जाए तो विद्युत धारा आधी रह जाती है।
ओम के नियम के अनुसार-
V = I R
I = V/R
जहाँ I = विद्युत धारा
V = विभवांतर
R = प्रतिरोध

Advertisements

Question-04_

बैटरी तथा सेल
Q04

EXPLANATION-बैटरी तथा सेल अपनी संचित रासायनिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं।

Advertisements

Question-05_

विद्युत बल्बों के तंतुओं के निर्माण में टंगस्टन का उपयोग किया जाता है, जबकि कॉपर तथा एल्युमीनियम का उपयोग विद्युत संचरण के लिये उपयोग होने वाले तारों के निर्माण में किया जाता है।
Q05

EXPLANATION-विद्युत बल्बों के तंतुओं के निर्माण में टंगस्टन का उपयोग किया जाता है, जबकि कॉपर तथा एल्युमीनियम का उपयोग विद्युत संचरण के लिये उपयोग होने वाले तारों के निर्माण में किया जाता है।

Advertisements

Question-06_

ओम का नियम
Q06

EXPLANATION-

1827 में जर्मन भौतिक विज्ञानी जॉर्ज साइमन ओम ने, किसी धातु के तार में प्रवाहित विद्युत धारा (I) तथा उसके सिरों के बीच विभवांतर (V) में परस्पर संबंध का पता लगाया। एक विद्युत परिपथ में धातु के तार के दो सिरों के बीच विभवांतर उसमें प्रवाहित होने वाली विद्युत धारा के समानुपाती होता है, परंतु तार का ताप समान रहना चाहिये। इसे ओम का नियम कहते हैं।
V ∝ I
अथवा V/I = नियतांक (R)
V = IR

किसी दिये गए धातु के लिये, दिये गए ताप पर, R एक नियतांक है जिसे तार का प्रतिरोध कहते हैं। किसी चालक का यह गुण है कि वह अपने में प्रवाहित होने वाले आवेश के प्रवाह का विरोध करता है। प्रतिरोध का SI मात्रक ओम है, इसे ग्रीक भाषा के शब्द Ω से निरूपित करते हैं।

Advertisements

Question-07_

Q07

EXPLANATION-पहला एवं दूसरा युग्म सही सुमेलित नहीं हैं।
विद्युत आवेश का SI मात्रक कूलॉम (C) है, जो लगभग 6.25 × 1018 इलेक्ट्रॉनों में समाए आवेश के तुल्य होता है।
विद्युत धारा को एक मात्रक जिसे ऐम्पियर (A) कहते हैं, में व्यक्त किया जाता है। एक ऐम्पियर विद्युत धारा की रचना प्रति सेकंड एक कूलॉम आवेश के प्रवाह से होती है।
परिपथों की विद्युत मापने के लिये जिस यंत्र का उपयोग करते हैं उसे एमीटर कहते हैं।

Advertisements

Question-08_

Q08

EXPLANATION-किसी विद्युत धारा के सतत् (चालू) तथा बंद पथ को विद्युत परिपथ कहते हैं। किसी विद्युत परिपथ में इलेक्ट्रॉन जो ऋण आवेशित हैं, के प्रवाह की दिशा के विपरीत दिशा को विद्युत प्रवाह की दिशा माना जाता है।

Advertisements

Question-09_

Q09

EXPLANATION-

उपरोक्त सभी कथन सत्य हैं

ओम के नियम का अनुप्रयोग करने पर हम यह पाते हैं कि किसी चालक का प्रतिरोध निर्भर करता है- चालक की लंबाई, उसकी अनुप्रस्थ काट के क्षेत्रफल तथा उसके पदार्थ की प्रकृति पर ।
परिशुद्ध माप यह दर्शाता है कि किसी धातु के एक समान चालक का प्रतिरोध उसकी लंबाई (l) के अनुक्रमानुपाती तथा उसकी अनुप्रस्थ काट के क्षेत्रफल(A) के व्युत्क्रमानुपाती होता है।

Advertisements

Question-10_

Q10

EXPLANATION-बल्बों में रासायनिक दृष्टि से अक्रिय नाइट्रोजन तथा ऑर्गन गैसें भरी जाती हैं, जिससे उसके तंतु की आयु में वृद्धि हो जाती है। तंतु द्वारा उपयुक्त ऊर्जा का अधिकांश भाग ऊष्मा के रूप में प्रकट होता है, परंतु इसका एक अल्प भाग विकरित प्रकाश के रूप में भी दृष्टिगोचर होता है।

Advertisements

Question-11_

Q11

explanation-

विद्युत शक्ति = विभवांतर (v) x विद्युत धारा (I), यदि विद्युत धारा एवं विभवांतर प्रत्येक को दो गुना बढ़ाया जाए तो-
P = 2V × 2I
= 4 VI
अर्थात् = 4 गुनी बढ़ जाएगी।

Advertisements

mynewradiant.com

अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आयी तो दोस्तों के साथ शेयर करे और सब्सक्राइब करे साथ ही साथ फॉलो करें हमारी पोस्ट को

उम्मीद है आपको ये पोस्ट भी पसंद आयेंगीं

CBSE ISC BOARD TEST SERIES SCHEDULE PHYSICS PART 1

Physics part 1 test series🔴⭕ please note it carefully in your diary📓. TEST SR NO. TOPIC DATE TEST 1 EMW 8 jan TEST 2 AC 1st 12 jan TEST 3 AC 2nd 14 jan TEST 4 EMI 16 jan TEST 5 MAGNETIC DIPOLE 18 jan TEST 6 REVISIONAL 20 jan TEST7 MAGNETISM 1st 22 jan […]

Rate this:

Magnetism notes for class 12th CBSE ICSE

Download fully specified ncert notes Click on button and download ncert extract notes for class 12th free 🆓 These notes are provided by nishant sir specially for New RADIANT STUDENTS. boost your preparation and make your foundation stronger….. Keep learning and be curious. READ MORE

Rate this:

Semiconductor n type – p type

Semiconductor Topic – n type, p type Class – 12th प्रश्न 1 : नैज अर्धचालक की संरचना समझाइये एवं इसमें धारा प्रवाह किस प्रकार होता है । उत्तर : नैज अर्धचालक ( pure semiconductor ) की संरचना सम चतुष्फलकीय होती है । किसी अर्द्धचालक की संरचना समझने के लिए जर्मेनियम ( Ge ) का उदाहरण […]

Rate this:

Class 12th physics magnetism magnetism daily 📝notes

प्रिय छात्रों aaj के इस पोस्ट में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत…. friends aaj के इस पोस्ट में हम आपको physics class 12th के magnetism चैप्टर के निशान्त सर के hand written notes प्रोवाइड करा रहे है.आप इन्हे मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं MAGNETISM DAY Magnetism day 1 download Magnetism day 2 download […]

Rate this:

Semiconductor n type – p type

Semiconductor Topic – n type, p type Class – 12th प्रश्न 1 : नैज अर्धचालक की संरचना समझाइये एवं इसमें धारा प्रवाह किस प्रकार होता है । उत्तर : नैज अर्धचालक ( pure semiconductor ) की संरचना सम चतुष्फलकीय होती है । किसी अर्द्धचालक की संरचना समझने के लिए जर्मेनियम ( Ge ) का उदाहरण […]

Rate this:

2 comments

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.